प्राइवेट स्कूल बने सरकार का निशाना लॉक डाउन के दौरान क्या है प्राइवेट स्कूलों की मजबूरियां. पढ़े फगवाड़ा एक्सप्रेस न्यूज़ पर.... विनोद शर्मा की रिपोर्ट

प्राइवेट स्कूल बने सरकार का निशाना लॉक डाउन के दौरान क्या है प्राइवेट स्कूलों की मजबूरियां. पढ़े फगवाड़ा एक्सप्रेस न्यूज़ पर.... विनोद शर्मा की रिपोर्ट
प्राइवेट स्कूल बने सरकार का निशाना लॉक डाउन के दौरान क्या है प्राइवेट स्कूलों की मजबूरियां. पढ़े फगवाड़ा एक्सप्रेस न्यूज़ पर.... विनोद शर्मा की रिपोर्ट

फगवाड़ा एक्सप्रेस न्यूज़. . प्राइवेट स्कूल सरकार का निशाना बन रहे हैं जिनको आदेश है कि लॉक डॉन के दौरान स्कूल विद्यार्थियों से फीसों की मांग नहीं करेंगे बसों का किराया भी नहीं ले सकेंगे ऑनलाइन पढ़ाई की फीस भी नहीं ले सकेंगे कारण लोक डाउन के कारण अभिभावकों  की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है सरकार के फैसले का लोगों ने स्वागत किया है लेकिन फीस मांगने पर सरकार के नियमों का पालन ना करने पर सरकार ने  स्कूलों को नोटिस जारी कर दिए हैं क्या प्राइवेट स्कूलों की फीस मांगना कोई मजबूरी थी प्राइवेट स्कूल अपने स्कूलों के लाखों रुपए के खर्चे कैसे चलाएंगे इस बात पर भी चर्चा होना जरूरी बन गया है लेकिन सरकार ने इसे संबंधी कोई चर्चा नहीं की सरकारी स्कूलों के अध्यापकों के 70% के करीब बच्चे बड़े प्राइवेट स्कूलों में पढ़ रहे हैं जिनका वेतन भी लाखों में है जिनको सरकार वेतन दे रही है इंडस्ट्रियलिस्ट और बिजनेसमैन के बच्चों को शायद स्कूली फीस देना मुश्किल नहीं है सरकार प्राइवेट स्कूलों  के हक में खड़े होकर सर्वे कराए  कि ऐसी स्थिति में किस-किस अभिभावक से बिना दबाव फीस  ली जा सकती है ताकि प्राइवेट स्कूल भी ऐसी स्थिति में अपने खर्चे चला सके सरकार को इस तरफ भी प्राइवेट स्कूलों के लिए रणनीति बनाने की जरूरत है स्कूलों के शिक्षकों को वेतन स्कूलों का बिजली का बिल सफाई कर्मचारियों और स्कूली बस चलाने वाले ड्राइवरों को वेतन देना भी सरकारी आदेशों के मुताबिक जरूरी बना हुआ है स्कूली सूत्र बताते हैं कि लाखों रुपए का खर्च मीडियम प्राइवेट स्कूलों के लिए मुसीबत बना हुआ है ऐसे में लॉक डॉन के दौरान शिक्षकों और सफाई कर्मचारियों को उनके घर की रोटी चलाने के लिए स्कूल प्रबंधक कमेटियों का भी फर्ज बनता है कि दुखद घड़ी में स्कूल अपने स्टाफ की हर मुश्किल में खड़े हो स्कूलों को सरकार की तरफ से कोई आर्थिक पैकेज नहीं है जिसके लिए सरकार को इस तरफ भी ध्यान देने की जरूरत है कि लॉक  डाउन के दौरान सरकार प्राइवेट स्कूलों के हक में भी अपना कोई आदेश जारी करें ताकि स्कूल भी कुछ आर्थिक स्थिति का मुकाबला कर लॉक डाउन के नियमों का पालन करने में आगे रहे


Apr 10 2020 11:48AM
प्राइवेट स्कूल बने सरकार का निशाना लॉक डाउन के दौरान क्या है प्राइवेट स्कूलों की मजबूरियां. पढ़े फगवाड़ा एक्सप्रेस न्यूज़ पर.... विनोद शर्मा की रिपोर्ट
Source: Phagwara Express News
website company in Phagwara
website company in Phagwara

Leave a comment





Latest post